Whaleshares Logo

मौसम के अनुसार पेड़ के पत्ते झड़ कर गिर जाते हैं

ahlawatPosted 3 months ago for Everyone to comment on2 min read

सर्दी शुरू होते ही पत्ते फिर से गिरने लगते हैं। मौसम बदलते ही पेड़ों का इंतजार शुरू हो जाता है। कई पेड़ अपने पत्ते गिरते रहते हैं। लेकिन यह सच भी है। कि कई पेड़ों की पत्तियाँ केवल वसंत और गर्मियों में हरी होती हैं। जैसे-जैसे शरद ऋतु आती है, वे पेड़ अलग-अलग दिखाई देने लगते हैं। लेकिन ये रंग हरे और भरे हुए हैं। वे बहुत सुंदर दिखती हैं।

पेड़ फिर शाखा और पत्तियों की शाखा के बीच एक परत बनाता है। यह परत पत्तियों और पोषण तत्वों की आपूर्ति शुरू करती है। और फिर पेड़ के पत्ते आने लगते हैं। बहुत सारा पानी पत्तियों की कोशिकाओं में पुन: अवशोषित हो जाता है। अगर पेड़ के पत्ते नहीं गिरते। इसलिए ऊर्जा पेड़ों में अधिक खर्च होती है। इससे बचने के लिए। ऐसे पेड़ हैं। इसलिए पेड़ पहले ही पत्तियां गिरा देते हैं। और कुछ दिनों के बाद हरा जीवन फिर से शुरू हो जाता है। तापमान बढ़ने लगता है। और तने और जड़ों में जमा क्लोरोफिल फिर से आने लगता है। और इस तरह से पेड़ फिर से हरे हो जाते हैं। यह एक बहुत ही अद्भुत प्रक्रिया है।

20210110_082028.jpg

मेरे पेड़ों को चार साल हो गए हैं। अब यह काफी बड़ा है। आपने देखा होगा कि जीवों की एक ही ऊर्जा भोजन और पाचन में होते है। इसी तरह, अधिकांश पौधों के पौधे प्रकाश संश्लेषण में भी ऊर्जा खर्च करते हैं। केवल हरे पत्ते तस्वीरों को संश्लेषित कर सकते हैं। पौधे सूर्य के प्रकाश को अवशोषित करते हैं और पानी और कार्बन डाइऑक्साइड लेते हैं। गिरते हुए पत्‍ते गर्मी में इस प्रक्रिया को रोकते हैं। गर्मियों के दौरान क्लोरोफिल बहुत अधिक है। कि ये दो रंग छिपे हैं। और प्रत्येक वृक्ष पर एक नया रंग आने लगता है। पत्‍ते समय अनुसार आते हैा

I think you will like this post.
Enjoy your Tuesday. A new plant that makes your life good.
Have a Nice Day.

Thanks for your tip, comments

@ahlawat

***

logo.png

Sign Up to join this conversation, or to start a topic of your own.
Your opinion is celebrated and welcomed, not banned or censored!